Home Gadget Captcha भरवाने के 10 मुख्य कारण

Captcha भरवाने के 10 मुख्य कारण

42
0
SHARE

दोस्तों आप किसी भी website में जाते है और फॉर्म भरना चाहते है या कहीं भी account create करना चाहते है तो सारा details भरने के बाद आपसे Captcha भरने को कहा जाता है। क्या आप जानते है यह Captcha क्यों भरवाया जाता है, नहीं जानते है तो कोई बात नहीं आज में इस लेख में इसके विषय में पूरी जानकारी दूंगा। तो बिना देर किये जानते है की इसलिए भरवाया जाता है Captcha

इसलिए भरवाया जाता है Captcha
में यह बताऊ की ये captcha क्या है, क्यों लाया गया उससे पहले में आपको एक उदाहरण दे कर समझाता हूँ। जैसे IRCTC नाम तो आपलोगो को ने सुना ही होगा,Indian railway में जितनी भी train चल रही है। सारे ट्रेनों के reservation इसी website से होते है। यहाँ पर आपको पता होगा tatkal क्या है। यह एक ऐसा system है जिसमे train में reservation मिल जाता है एक दिन पहले।

दोस्तों 11:00 बजे sleeper class का tatkal खुलता है और 10:00 AC class का tatkal खुलता है। देखो अगर मुझे tatkal में ticket book करना है तो में 10:00 या 11 :00 बजे ही बैठा रहूँगा । अब जैसे ही तत्काल खुलेगा में book करने लग जाऊंगा तुरंत train salect करूँगा तुरंत payment करूँगा लेकिन मुझे book करने में कम से कम 2 -3 मिनट लग ही जायेगा। लेकिन उससे पहले किसी ने कर दिया तो सारी ticket उसके पास चली जाएँगी उसके बाद मेरे पास कुछ नहीं बचेगा ।

तो यहाँ पर में एक programer हूँ मुझे कोडिंग आती है तो में एक ऐसा script बना सकता हूँ में एक रोबोट बना सकता हूँ। जिससे में उसे पहले से बता कर रख सकता हूँ बस मुझे 11:00 बजे वो script run करनी है। तो औटोमाटिकली जो चीजे में करता वो मेरी script करेगी वो जाएगी वेबसाइट पर login करेगी सारा details भरेगी और payment करेगी और टिकट बुक कर लेगी। जो चीजे में 2-3 मिनट में करता वो 10 सेकंड में कर देती।

क्या था प्रॉब्लम बिना captcha के
तो ऊपर में दिया गया example ही था problem सारे website के लिए, लोगो के लिए सारे इंटरनेट के लिए। की कैसे पता लगाया जाय की वो एक particular ह्यूमन है या फिर एक रोबोट है ताकि उस हिसाब से वो website के अंदर सारा दरवाजा बंद कर सके क्योकि अदि स्क्रिप्टे बन गयी तो खुलते है ख़त्म हो जायेगा लोगो तक फायदा नहीं पहुंचेगी। तो यहाँ पर concept लाया गया captcha का ये जो captcha है वो shortform है

Captcha ka fulform (Completely Automated Public Turing test to tell Computers and Humans Apart)होता है,  इसको लाया ही इसलिए गया था की जितनी भी spaming हो रही है बहुत सारे बोट्स घूम रहे है। जो सारे वेबसाइटो को ख़राब कर रहे है मतलब 1-1 सेकंड में हजारो लाखो रजिस्ट्रेशन कर रहे है। तुरंत तुरंत लाखो id बन रहे है। तो ये सब को रोकने के लिए इससे ये पता लगाया जाता है की आप human है या robot

यही सब spam को रोकने के लिए 2003 में captcha डिज़ाइन किया गया। इसमें किया ये गया की कुछ word या digit दिखाया गया और टेढ़ा मेड़ा कर दिया गया और साथ में पीछे बहुत सारा नॉइस डाल दिया गया। जिसे robot नहीं पढ़ सके और ह्यूमन थोड़ा मुश्किल से ही सही लेकिन देख के भर ले। इसी लिए कॅप्टचा को लाया गया ताकि ये पता चल सके कोण ह्यूमन है और कोण रोबोट।

OCR (Optical Character Recognition)
OCR (Optical Character Recognition) इससे ये होता है अगर आप कोई Image दिखते हो computer को तो वो scan करके taxt में बदल लेता है। इससे दिक्क्त ये आयी की अगर जो image को दिखा रहे है उसे वो taxt में बदल ले तो फिर मतलब ही क्या हुआ दिखने का। तो फिर ये किया गया की जीतनी भी book थी market में सारे को scan किया गया और देखा गया की कोण कोण से image को नहीं पढ़ पा रहा है computer, फिर वही सारे images और words को captcha के रूप में दिखाया जाने लगा।

Re-captcha
captcha का जो re-captcha बना इसमें book के words को दिखाया जाता था और उसको थोड़ा टेढ़ा मेढ़ा किया जाता था ताकि पता नहीं चल पाए। ये सब चीजे चलती रही उसके बाद 2009 में Google आया। गूगल के भी सामने ये चुनौतियां आती थी की कैसे चीजों के रोके जो spaming हो रही है। Google में search engine में या फिर gmail id’s में तो गूगल ने ये किया की recaptcha company को ही खरीद लिया। तो 2009 में recaptcha बिक गयी google के पास। अब google ने अपना दिमाग लगाया की और कितना अच्छा बनाया जाय। क्योकि बार-बार लोगो से taxt लिखवाना लोगो का time बर्बाद करना अच्छी बात नहीं है।

Google ने बनाया नया re-captcha
यहाँ पर google कुछ कर पता उससे पहले बहुत सारी company market में या गयी। वो बहुत सरे बन्दे बैठा दिए कॉल सेण्टर टाइप के और लोग बोलने लगे अदि आप कंपनी को पैसे दोगे तो वो आपके captcha को solve कर के देंगे। उसके लिए एक script बन गयी की जब-जब captcha आता था उसके पास चला जाता था उसका image और वो भर के देते थे तो automaticaly चीजे बाईपास हो जाती थी। यह एक paid सर्विस बन गयी “captcha भरवालो पैसे कमा लो”

तो google ने सोचा लोगो से लिखवाने अच्छा कुछ और advance बनाया जाय तो गूगल ने नया captcha बनाया जिसका नाम है। no captcha re-captcha इसका मतलब ये है की आजकल अपने देखा होगा। google के website पर I am not robot इसमें ये है की बस यहाँ पर click करना है और वहाँ पर राइट साइन आ गया green color में तो आप उस level को पर कर सकते है। अब आपके दिमाग में ये आया होगा की अगर में click कर सकता हूँ तो robot भी click कर सकता है, कोई script भी click कर सकता है।

तो google ने सोचा लोगो से लिखवाने अच्छा कुछ और advance बनाया जाय तो गूगल ने नया captcha बनाया जिसका नाम है। no captcha re-captcha इसका मतलब ये है की आजकल अपने देखा होगा। google के website पर I am not robot इसमें ये है की बस यहाँ पर click करना है और वहाँ पर राइट साइन आ गया green color में तो आप उस level को पर कर सकते है। अब आपके दिमाग में ये आया होगा की अगर में click कर सकता हूँ तो robot भी click कर सकता है, कोई script भी click कर सकता है।

Google ऐसे पता करती है की आप Robot है या Human
यहाँ पर दिक्क्त ये है की जब आप उस पर click करते है तो बहुत सारी information आपके कम्प्यूटर से आपके मोबाइल से google के पास जाती है। इसमें आपका IP address, country की आपके city की location और आप जिस समय click कर रहे थे उस समय आपका कर्सर का movement क्या था। उस page पर कितनी बार scroll किये, कितनी देर से आप उस page पर हो। ये सारी information google के server पर जाती है। गूगल machine learnig का इस्तेमाल कर यह पता लगाती है ये जो मूवमेंट आ रही है वो ह्यूमन की है या फिर एक रोबोट की।

यदि उसको 90% से 95% लगता है की यह एक ह्यूमन है तो आपको ग्रीन साइन दे देगी। अगर उसे 5% से 10%भी लगा की यह रोबोट है तो फिर आपको कुछ image दिखया जायेगा जैसे Bus का Traffic lite का और बहुत सारी चीजों का यदि आप उसे identify कर लेते हो तो वो आपको आगे level पे भेज देगा। और आपकी IP को वाइट लेस्स कर देगा जिससे आपको बार बार दिक्क्त का सामना नहीं करना पड़ेगा। आपके लिए बही वही green साइन आएगा। इसी तरह से गूगल ने नया captcha लाया इसमें आपको कुछ करना नहीं होता है बस click-click करके आगे बढ़ना होता है।

इस लिए माना जाता है Captcha को Website का मसीहा
उपर के सरे तथ्य पढ़ कर आप यह मन सकते है की captcha सारे website का मसीहा होता है। यह सारे spam को रोकता है। क्योकि स्क्रिप्टे कुछ भी कभी भी आप बना सकते हो। अब आपको खुद सोचना है की यदि आप लोगो की अपने website पर कुछ फीलअप करने दे रहे हो कोई फॉर्म भरने दे रहे हो तो उसमे captcha जरूर लगाए क्योकि अदि आपसे दुश्मनी है या फिर आपके website को बंद करना ही तो वो ऐसी कोई स्क्रिप्ट बना कर run कर देगा जिससे आपका कुछ ही पूरा detabase फुल कर देगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here